पहाड में रहकर पहाडी वेशभूषा और परिधानों की सोच रखने वाले कैलाश उन गिने चुने शिल्पियों में हैं, जिन्होंने बहुत कम समय में इस क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है। कैलाश एक शिल्पी ही नहीं वरन सामाजिक और सांस्कृतिक सरोकारों के प्रति भी उनकी गहरी समझ और आस्था है। पर्वतीयContinue Reading